स्वच्छ बिहार अभियान योजना – डॉ बीरेंद्र प्रसाद यादव

उप विकास आयुक्त सुश्री इनायत खान की अध्यक्षता में पदाधिकारियों की साप्ताहिक समन्वय बैठक कृषि भवन के सभागार में आयोजित की गई जिसमें मुख्य रूप से लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान, पंचायत सरकार भवन का निर्माण, सरकार के 07 निश्चय कार्यक्रम, जिले में सरकारी नलकूप की स्थिति, नहर के माध्यम से खेतों मे पटवन की स्थिति, जिले में बांध की मरम्मती, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के कार्यो की समीक्षा का निदेश सहित अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की गई तथा सरकारी कार्यो के मार्ग में आनेवाली समस्याओं का पदाधिकारियों ने एक दूसरे के साथ समन्वय स्थापित कर निष्पादन किया।

बैठक में उप विकास आयुक्त ने उपस्थित सभी पदाधिकारियों को निदेश दिया की वे एक दूसरे के साथ समन्वय स्थापित करते हुए जिले में ओडीएफ (खुले में शौच से मुक्ति) के कार्य को शत प्रतिशत पूरा करें। उन्होने मार्मिक स्वर में कहा की जिले के सभी पदाधिकारियों, जन प्रतिनिधियों, बुद्धिजीवियों, युवाओं सहित आम जनों का यह कत्र्तव्य है की वे भोजपुर जिले को खुले में शौच से मुक्ति हेतु समर्पित भाव से सहयोग करें। इस कार्य हेतु सबों को संकल्पित होने तथा अपनी जिम्मेदारी समझकर लोगों को शौचालय निर्माण कराने तथा उसका उपयोग करने हेतु प्रेरित एवं जागरूक करें। उन्होने कहा की रात्रि चैपाल लगाने के मकसद यह है की इस चैपाल में जन प्रतिनिधिगण, पदाधिकारीगण सहित सभी लोग मिल बैठ कर ओडीएफ को तेजी से बढाने तथा इसके मार्ग में आने वाली समस्याओं को एक दूसरे के साथ समन्वय स्थापित करते हुए दूर करना है।

बैठक में उप विकास आयुक्त ने प्रखंडों के वरीय प्रभारी को निदेश दिया की आप संबंधित क्षेत्र में जाकर आम जनों को शौचालय निर्माण हेतु प्रेरित करें तथा उनकी समस्याओं को सुनकर उसके निष्पादन का भरपुर प्रयास करें। उन्होने स्पष्ट रूप से कहा की आप अगर किसी कार्य को पूरा करने का तिथि निर्धारित करते हैं तो उसपर अमल करते हुए उसे हर हाल में पूरा करने की कोशिश करें  ताकि आम जनों के बीच प्रशासन की छवि और अधिक प्रभावी ढंग से प्रदर्शित हो सके। उन्होने कहा की इस कार्य में हर स्तर के लोगों की सहभागिता सुनिश्चित करें। उन्होने निदेश दिया की प्रख्ंड एवं पंचायत स्तर के सभी पदाधिकारी / पर्यवेक्षी पदाधिकारी एवं कर्मचारी को इस कार्य में अपनी भुमिका तय करनी होगी। उन्होने कहा की आंगनबाडी सेविका/सहायिका, जीविका दीदी, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, शिक्षा कर्मी सहित अभियंता /पदाधिकारियों /कर्मचारी सभी मिलकर इस महान कार्य को पूर्ण करने का शपथ लें।

बैठक में सिविल सर्जन को निदेश दिया गया की वे अपने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के सभी चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य कर्मियों के साथ बैठक कर यह सुनिश्चित कर की संभावित बाढ के समय प्रखंडों, पंचायतों/गाव मे दवा की कमी न होने पाये। साथ ही जिला पशुपालन पदाधिकारी यह सुनिश्चित करें की पशुआं की दवा एवं चारा का भरपुर भंडारण सुनिश्चित करें। सभी कनीय अभियंता को हर घर नल का जल योजना हेतु वार्ड समिति में तय करें।

 पंचायत सरकार भवन के निर्माण हेतु स्थानीय क्षेत्रीय अभियंत्रण संगठन आरा 1, 2 को आवश्यक निदेश दिया गया। सरकारी नलकूप को तेजी से मरम्मती कराने का निदेश दिया गया। बताया गया की 514 में 190 नलकूप ही चल रहा है शेष की मरम्मती शीघ्र कराने का निदेश दिया गया। कार्यपालक अभियंता जल संसाधन विभाग द्वारा बताया गया की नहर की अंतिम छोर तक पानी दिया जा रहा है। बाढ नियंत्रण प्रमंडल द्वारा नेकनाम टोला, पीपरपाती, सलेमपुर, मौजमपुर सहित 05 स्थानों पर बांध की मरम्मती की जा रही है।

 बैठक में अपर समाहत्र्ता, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी -सह- अपर समाहत्र्ता, निदेशक डीआरडीए, सिविल सर्जन, अनुमंडल पदाधिकारी जगदीशपुर तथा पीरो, जिला कृषि/कल्याण/शिक्षा/योजना पदाधिकारी, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता पथ निर्माण/ नहर प्रमंडल/नलकूप प्रमंडल/बाढ नियंत्रण प्रमंडल, जल संसाधन विभाग, लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी जगदीशपुर, वरीय उप समाहत्र्ता श्रीमति अरूणा कुमारी, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थें।

 

Be the first to comment on "स्वच्छ बिहार अभियान योजना – डॉ बीरेंद्र प्रसाद यादव"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*